इंगेजमेंट (सगाई) समारोह

इंगेजमेंट यानी सगाई एक रस्म है, जिसे विवाह सस्ंकार से पहले किया जाता है। सगाई का अर्थ हैं कि विवाह के लिए वर और कन्या को एक दूसरे के लिए रोक देना, इसी कारण से सगाई की इस रस्म को रोका भी कहा जाता है। शास्त्रों में सगाई के लिए शब्द है – वरण। कन्या वरण और वर वरण ।
.
शास्त्रों में सगाई रस्म के लिए शुभ मुहूर्त दिए गए हैं, हमें उन्हीं के अनुसार शुभ मुहूर्त में सगाई की रस्म को सम्पन्न करना चाहिए। सगाई की रस्म शुरु करने के लिए सबसे पहले भगवान गणेश का पूजन करें तथा पूर्व दिशा की ओर मुख कर आसन पर वर या कन्या के बैठने के लिए स्थान रखें।
.
श्री गणेश का पूजन करने के बाद ही आगे की सारी रस्मे पूर्ण विधि विधान से सम्पन्न करनी चाहिए, जिससे की इस नए जोड़े के नए जीवन की शुरुआत अच्छे से बिना किसी बाधा के हो व जीवन में सद्भाव, शांति और खुशियाँ हमेशा बनी रहे।
.
इंगेजमेंट (सगाई) के लिए अपने शहर में पंडित जी बुक करने के लिए या सगाई की रस्म सम्पन्न करने की विधि या इससे जुडी सामग्री और कोई भी जानकारी के लिए हमें कॉल करें 📲 +91-900-9444-403 या कॉलबैक के लिए अपना मोबाइल नंबर कमेंट करें..!
.
अधिक जानकारी या ऑनलाइन बुकिंग के लिए विजिट करें 🌍 www.mypanditg.com/shop/engagement
.
.