अक्षय तृतीया पर बना महासंयोग ये 5 राशिया बनेगी भाग्यशाली

” वोटिंग करने अवश्य जाए , ये हमारा अधिकार है, एक अच्छी सरकार चुनने का ”

अक्षय तृतीया का अद्भुत संयोग पुरे 1 दसक बाद बन रहा है | इसके पूर्व वर्ष 2003 में 5 ग्रहो का ऐसा योग बना था | वर्ष 2019 में एक बार फिर ऐसा संयोग बनेगा , जब 4 गृह अपनी उच्च राशि में गोचर रहेंगे |

अक्षय तृतीया का महत्त्व

अक्षय होता है | यानी कई जन्मो तक इसका लाभ मिलता है | इस दिन आप अपने घर में कोई भी शुभ कार्य कर सकते है | इस हिन्दू धर्म में अक्षय तृतीया का खास महत्त्व मन जाता है इस दिन पूजा -पाठ और दान करने से कभी न समाप्त होने वाले अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है | इस दिन महालक्ष्मी की पूजा की जाती है | माना जाता है इस दिन जो भी दान पुण्य करता है उनका फलदिन माता लक्ष्मी की पूजा – अर्चना के अलावा इस दिन शादी – ब्याह पूजा पाठ जैसे मांगलिक कार्य करना भी बेहद शुभ होता है |

अक्षय तृतीया के दिन भगवान विष्णु के छठे अवतार कहे जाने वाले भगवान परशूराम का जन्म हुआ था , इसलिए इस दिन को परशूराम जयंती के रूप में भी मनाया जाता हे | इस दिन, माँ अनपूर्णा का जन्म दिन भी मनाया जाता हे | माँ अनपूर्णा के पूजन से किचन तथा भोजन में स्वाद बढ़ जाता हे | इस दिन महादेव ने भी माता लक्ष्मी की पूजा करने की राय दी थी, जिसके बाद से अक्षय तृतीया के दिन माँ लक्ष्मी की पूजा की जाती है | इस दिन त्रेता युग का भी आरम्भ हुआ था | कहा जाता हे इस दिन अगर कोई भी किसी गरीब को भर पैट खाना खिलाये तो उसे जीवन में सुख समृद्धि की प्राप्ति होती है |

इतना ही नहीं मान्यता है अक्षय तृतीया के दिन जो भी धार्मिक कार्यो के लिए अपनी कमाई से दान करता है उसे धन और संपत्ति में कई गुना इजाफा होता है | इस बार अक्षय तृतीया में पुजा करने का शुभ मुहूर्त सुबह ५:४० बजे से दोपहर १२:१७ बजे तक हे | इस बीच आप महालक्ष्मी जी की पूजा – अर्चना कर उनको प्रसन्न कर सकते है |

 

किन राशियों का बदलेगा भाग्य:-

१) मेष राशि में उच्च के सूर्य भाग्य बदलेंगे जो आप को संतान का सुख देगा पुत्र की प्राप्ति होगी यदि चुनाव में खड़े हे तो सफल होने के योग है तथा घर में सुख समृद्धि भी आएगी |

२) मिथुन तीसरे भाव के स्वामी होकर लाभ स्थान में ग्यारहवे स्थान में सूर्य देव विराजमान है | उच्च के होकर अपार धन लाभ आएगा विदेशी धन लाभ होगा व्यापार में उन्नति होगी तथा दाम्पत्य में सुख मिलेगा पदोन्नति भी हो सकती है |

३) कर्क धन भाव का स्वामी होकर उच्च होकर बैठे है सूर्य देव जिससे सरकारी नौकरी के अवसर प्राप्त होंगे अगर सस्पेंड है तो दुबारा मौका मिलेगा प्रमोशन के भी योग है, मान सम्मान बढ़ेगा | किस्मत से पैसा आएगा , खुशहाली बढ़ेगी |

४) धनु राशि में गुरु और सूर्य का नवपंचम योग भाग्य पलट देगा | भाग्य से संतान का सुख भी मिलेगा शिक्षा के क्षेत्र में भारी सफलता तथा सरकार से भी लाभ मिलेगा ऐसे में आपको शनि देव के मंत्रो का जप करना चाहिए इससे आप के धन में वृद्धि होगी और आपका व्यापार बढ़ेगा |

५) कुम्भ तीसरे भाव में सूर्य उच्च हो कर बैठे है, उच्च कोटि का जीवन जीने का योग बन रहा है और विदेश से लाभ होगा और विदेश प्रवास के भी योग बन रहे है सूर्य देव आपकी किस्मत चमकाते हुए दिख रहे है |

 

भूल से भी करे ये कार्य :-

१) अक्षय तृतीया के दिन नए पौधे न लगाए |

२) इस दिन आपको नया घर खरीदना तो चाहिए लेकिन किसी भी तरह का निर्माण कार्य       नही कराना चाहिए ये अशुभ माना जाता है |

३) कुछ जगहों पर अक्षय तृतीया के दिन यात्रा करना भी वर्जित है |

४) अक्षय तृतीया के दिन उपनयन संस्कार नहीं करना चाहिए |

५) आपने कोई व्रत रखा है तो ध्यान रखे, अक्षय तृतीया के दिन उपवास ख़त्म न करे |

६) अक्षय तृतीया पर माता लक्ष्मी की पूजा करते समय स्वछता का ध्यान रखे एवं विचारो में    शुद्धता रखे |

७) अक्षय तृतीया के दिन बिना स्नान किये तुलसी की पत्तिया न तोड़े |