वाहन पूजन

जब हम कोई नया वाहन खरीदने की सोचते हैं, तो हमारे बड़े बुजुर्ग उसे हमेशा एक शुभ मुहूर्त पर खरीदने तथा उसे इस्‍तेमाल करने से पहले उसकी पूजा करने के लिए कहते हैं। ताकि वो एक सकारात्मक ऊर्जा के साथ घर पर आये और हमेशा आपके लिए सुरक्षित रहे।
.
ज्योतिष में भी यही माना जाता हैं कि अगर आप कोई नया वाहन खरीदते हैं तो उसका पूजन अवश्य करना चाहिए, इसे शुभ माना गया हैं। शास्त्रों में स्वस्तिक के निशान का बहुत महत्व बताया गया है, इसे वाहन पर अवश्य लगाना चाहिए । स्वस्तिक का निशान सकारात्मक ऊर्जा का प्रतिक है, इसको लगाने से यात्रा में किसी प्रकार का व्यवधान नहीं आता।
.
पूर्ण विधि विधान से की गयी वाहन पूजा हमारे वाहन की तथा हमारी हमेशा रक्षा करती हैं व भविष्य में होने वाली किसी भी अनहोनी से हमको बचाती हैं।
.
नए वाहन की पूर्ण विधि विधान द्वारा पूजा करवाने के लिए अपने शहर में पंडित जी अभी बुक करें 📲 +91-900-9444-403 या कॉलबैक के लिए अपना मोबाइल नंबर कमेंट करें..!
.
अधिक जानकारी या ऑनलाइन बुकिंग के लिए विजिट करें 🌍 www.mypanditg.com/shop/vehicles-puja


इंगेजमेंट यानी सगाई एक रस्म है, जिसे विवाह सस्ंकार से पहले किया जाता है। सगाई का अर्थ हैं कि विवाह के लिए वर और कन्या को एक दूसरे के लिए रोक देना, इसी कारण से सगाई की इस रस्म को रोका भी कहा जाता है। शास्त्रों में सगाई के लिए शब्द है – वरण। कन्या वरण और वर वरण ।
.
शास्त्रों में सगाई रस्म के लिए शुभ मुहूर्त दिए गए हैं, हमें उन्हीं के अनुसार शुभ मुहूर्त में सगाई की रस्म को सम्पन्न करना चाहिए। सगाई की रस्म शुरु करने के लिए सबसे पहले भगवान गणेश का पूजन करें तथा पूर्व दिशा की ओर मुख कर आसन पर वर या कन्या के बैठने के लिए स्थान रखें।
.
श्री गणेश का पूजन करने के बाद ही आगे की सारी रस्मे पूर्ण विधि विधान से सम्पन्न करनी चाहिए, जिससे की इस नए जोड़े के नए जीवन की शुरुआत अच्छे से बिना किसी बाधा के हो व जीवन में सद्भाव, शांति और खुशियाँ हमेशा बनी रहे।
.
इंगेजमेंट (सगाई) के लिए अपने शहर में पंडित जी बुक करने के लिए या सगाई की रस्म सम्पन्न करने की विधि या इससे जुडी सामग्री और कोई भी जानकारी के लिए हमें कॉल करें 📲 +91-900-9444-403 या कॉलबैक के लिए अपना मोबाइल नंबर कमेंट करें..!
.
अधिक जानकारी या ऑनलाइन बुकिंग के लिए विजिट करें 🌍 www.mypanditg.com/shop/engagement
.
.


श्राद्ध

आज से पितृ पूजा का पर्व श्राद्ध पक्ष शुरू हो रहा है, जिसमे लोग अपने दिवंगत पूर्वजों की आत्‍मा की शांति के लिए श्राद्ध या पिंडदान करते हैं। मान्‍यता है कि अगर पितृ नाराज हो जाएं तो व्‍यक्ति का जीवन भी खुशहाल नहीं रहता और उसे कई तरह की समस्‍याओं का सामना करना पड़ता है, यही नहीं घर में अशांति फैलती है और व्‍यापार व गृहस्‍थी में भी हानि झेलनी पड़ती है। ऐसे में अपने पितरों को तृप्‍त करना और उनकी आत्‍मा की शांति के लिए पितृ पक्ष में श्राद्ध करना जरूरी माना जाता है। श्राद्ध के जरिए पितरों की तृप्ति के लिए भोजन पहुंचाया जाता है और पिंड दान व तर्पण कर उनकी आत्‍मा की शांति की कामना की जाती है। जिसे पितृ दोष निवारण पूजा भी कहा जाता हैं।

हिन्‍दू पंचांग के मुताबिक पितृ पक्ष अश्विन मास के कृष्ण पक्ष में पड़ते हैं। इसकी शुरुआत पूर्णिमा तिथि से होती है, जबकि समाप्ति अमावस्या पर होती है आमतौर पर पितृ पक्ष 16 दिनों का होता है, इस बार पितृ पक्ष 13 सितंबर से शुरू होकर 28 सितंबर को खत्म होगा । इन दिनों में पितरों के लिए शुभ काम किए जाते हैं।

ध्यान रहे की पितृ पक्ष में सभी तिथियों का अलग-अलग महत्व है। आमतौर पर किसी व्यक्ति की मृत्यु जिस तिथि पर होती है, पितृ पक्ष में उसी तिथि पर श्राद्ध कर्म किए जाते हैं। यानी कि अगर परिजन की मृत्‍यु प्रतिपदा के दिन हुई है तो प्रतिपदा के दिन ही श्राद्ध करना चाहिए।

पितृ पक्ष में किस दिन करें श्राद्ध? श्राद्ध के नियम क्या हैं? श्राद्ध कैसे करें? इस प्रकार की सभी जानकारियों तथा श्राद्ध (पितृ पूजा) कराने के लिए शहर के सबसे विद्वान पुरोहित को बुक करने के लिए अभी कॉल करें 📲 +91-900-9444-403 या कॉलबैक के लिए अपना मोबाइल नंबर कमेंट करें..!

अधिक जानकारी या ऑनलाइन बुकिंग के लिए विजिट करें 🌍 www.mypanditg.com/shop/pitra-dosh-nivaran-puja


MyPanditG

हर एक व्यक्ति चाहता है कि उसकी जिंदगी में धन-दौलत की कभी कमी ना हो और उसके लिए वो पूरी मेहनत भी करता हैं ताकि पैसे कमा सके. लेकिन कहते हैं ना की पैसे कमाना तो कठिन काम है ही लेकिन पैसे संभाल कर रखना उससे भी कठिन काम होता है।
.
कई बार जरूरी कामों के लिए हमारे पास पैसे नहीं होते और हमें कर्ज या ऋ़ण लेने पड़ जाते हैं लेकिन ये कर्ज कभी खत्म होने का नाम ही नहीं लेते और ज़िंदगी भर ले लिए हमारे लिए मुसीबत बन जाते है।
.
ज्योतिष में कुछ ऐसे अचूक उपाय है जिन्हें अपनाकर कोई भी व्यक्ति जल्दी से जल्दी सर पर चढ़े इन कर्जो से आसानी से छुटकारा पा सकता हैं। अगर आप भी अपने कभी न चुकाने वाले कर्ज या ऋ़ण से परेशान हैं तो तुरंत हमसे संपर्क करें 📲 +91-900-9444-403 या कॉलबैक के लिए अपना मोबाइल नंबर कमेंट करें..!
.
अधिक जानकारी या ऑनलाइन बुकिंग के लिए विजिट करें 🌍 www.mypanditg.com/shop/karj-mukti-upay


किसी भी प्रकार की धर्मिक पूजा, पाठ , हवन, मुहूर्त, कथा व विवाह कराने हेतु ऑनलाइन पंडित जी बुक करें या इनसे सम्बंधित किसी भी प्रकार की सहायता के लिए हमें कॉल करें 📲 +91-900-9444-403 या कॉलबैक के लिए अपना मोबाइल नंबर कमेंट करें..!
.
हम आपको उसकी नि:शुल्क पूरी जानकारी के साथ साथ उचित मार्गदर्शन भी देंगे! अधिक जानकारी के लिए विजिट करें 🌍 www.mypanditg.com